Categories
moral stories in hindi Hindi Kahaniya Moral Kahaniya moral stories moral stories for adults moral stories for kids moral stories hindi moral stories short in hindi Moral Story

Moral stories in hindi for kids : दम दान दया (Moral story)

आज हम moral stories in hindi for kids की कहानियाँ में पढेंगे कहानी दम दान दया जो की moral stories in hindi से जुडी हुई है 

            वैसे तो हम जितना ज्ञान ले लें उतना कम है। लेकिन कुछ ज्ञान की बातें होतीं हैं जो बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होती हैं, इतनी की अगर हम उनके बारे में न जाने तो हमारे जीवन का कोई महत्व नही होता है। आज हम ऐसे ही ज्ञान के बारे में बात करेंगे। 

आज हम moral stories in hindi for kids की कहानियाँ में पढेंगे कहानी दम दान दया जो की moral stories in hindi से जुडी हुई है 
 
            वैसे तो हम जितना ज्ञान ले लें उतना कम है। लेकिन कुछ ज्ञान की बातें होतीं हैं जो बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण होती हैं, इतनी की अगर हम उनके बारे में न जाने तो हमारे जीवन का कोई महत्व नही होता है। आज हम ऐसे ही ज्ञान के बारे में बात करेंगे। 
 
पुराने समय की बात है। एक बार इंसान देव और दानव के मन में ख्याल आया। ब्रम्हाजी तो वैसे बहुत ज्ञान की बात बताते हैं, लेकिन ऐसा कोई ज्ञान जो आज तक उन्होंने हमको न दिया हो और वो बहुत ही महत्वपूर्ण हो। हमे ऐसे ज्ञान के बारे में ब्रम्हाजी से बात करनी चाहिए। इसी विचार के साथ मानव दानव और देव ब्रम्हाजी के पास पहुंचे।
 
और कहा ,”भगवान हमे कोई ऐसा ज्ञान दीजिये जो आज तक आपने हमे न दिया हो। और वो हमारे जीवन के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण हो।” ब्रम्हाजी बोले ,”मुझे ऐसा ज्ञान देने में कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन अभी तुम लोग उस ज्ञान के काबिल नहीं लगते हो। मुझे नहीं लगता की तुम लोग उस ज्ञान को समझ पाओगे। इसलिए तुम लोग एक साल तक अच्छे से तपस्या करो और फिर मेरे पास वापस आओ। एक साल तपस्या करने से तुम्हारे अन्दर की आत्मा शांत हो जाएगी और तुम उस ज्ञान को समझ पाओगे।”
 
 
moral stories for kids, moral stories in hindi, moral stories short in hindi
 
तीनो ने एक साल तक कठोर तपस्या की और फिर ब्रम्हाजी के पास आये। ब्रम्हाजी ने कहा की तुम तीनो एक एक करके मेरे पास आओ। उन तीनो लोगो ने वैसा ही किया।
 
 सबसे पहले देवता गए तो ब्रम्हाजी ने कहा ‘द’ । फिर उनसे पूछा की इस ‘द’ का क्या मतलब है? देवता बोले इस ‘द’ का मतलब है की हमे अपने इन्द्रियों की इच्छाओं को दमन कर देना चाहिए। यानी की हमे अपनी इन्द्रियों को अपने वश में रखना चाहिए। ऐसा न हो की हमारी इन्द्रियाँ हमसे जो मन करवा लें। हममे इतना दम होना चाहिए की हम अपनी इन्द्रियों को अपने वश में रख सकें। ब्रम्हाजी ने कहा ,”बिलकुल सही समझे तुम। अब तुम जिंदगी में वही करो जो इस ज्ञान में बताया गया है।”
 
 फिर मानव ज्ञान लेने पहुंचे। ब्रम्हाजी ने मानव से कहा ‘द’ और पूछा की इसका क्या मतलब है? मानव ने कहा ,”भगवन! आपके इस द मतलब है दान। आप हमे ये बताना चाहते हैं की मानव को जीवन में दान करना चाहिए। दान के बिना मानव के जीवन का कोई भी महत्व नहीं है।” ब्रम्हाजी ने कहा ,”तुम बिल्कुल सही समझे। अब इसी ज्ञान के साथ अपने जीवन में कार्य करो।” 
 
अंत में दानव ज्ञान लेने गए। ब्रम्हाजी ने उनसे भी कहा ‘द’ ।  ब्रम्हाजी ने पूछा की तुमने द का मतलब समझा? दानव ने कहा ,”हाँ इस द का मतलब है दया। आप हमे सिखाना चाहते हैं की जीवन में अगर दया न हो तो वो जीवन बेमोल है। उसका कोई मोल नहीं है।”
 
moral stories for kidsmoral stories in hindimoral stories short in hindi
 
 ब्रम्हाजी ने कहा ,”बिलकुल सही यही जिंदगी का सबसे बड़ा ज्ञान है। ‘द’ ‘द’ ‘द’ यानी की दम, दान और दया। अगर ये तीनो किसी में हैं तो वो कुछ भी कर सकता है। और अगर ये तीनो नहीं हैं, तो उसके पास सबकुछ होकर भी कुछ नहीं है। 
 
इस ज्ञान को पाकर तीनो लोग बहुत खुश हुए और अपने अपने घर को लौट गए।
 

Moral stories in hindi for kids

moral stories for kidsmoral stories in hindimoral stories short in hindi
 
 
 ऐसा कहा जाता है की जब बारिश होती है तो बादल गरजते हैं, तो वो द द द की आवाज़ करते हैं और उस आवाज़ का मतलब वही होता है जो ब्रम्हाजी ने बताया था। वो बादल गरज गरज कर फिरसे याद दिलाते हैं।
 
शिक्षा- हमे अपने इन्द्रियों को अपने वश में रखते हुए जीवो पर दया करनी चाहिये। साथ ही साथ ज़रूरतमंदो को दान भी करना चाहिए।
 
READ MORE-
 

1 Moral stories in hindi for kids : आपदधर्म

TO GET YOUR WEBSITE- CLICK HERE

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *