Categories
इंटरनेशनल जस्टिस डे international justice day world day for international justice world justice day

इंटरनेशनल जस्टिस डे : न्याय का 1 महत्वपूर्ण दिन (International justice day in hindi)

इंटरनेशनल जस्टिस डे की शुरुआत रोम से हुई थी। इंटरनेशनल जस्टिस डे की पूरी कहानी 17 जुलाई 1998 को रोम में हुए राजनितिक मीटिंग से जुड़ी हुई है। और वहां पर एक संधि ने जन्म लिया, जो की रोम और अंतर्राष्ट्रीय अपराध न्यायलय के बीच था। जिसकी वजह से ही अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायलय की स्थापना हुई।

इंटरनेशनल जस्टिस डे की शुरुआत रोम से हुई थी। इंटरनेशनल जस्टिस डे की पूरी कहानी 17 जुलाई 1998 को रोम में हुए राजनितिक मीटिंग से जुड़ी हुई है। और वहां पर एक संधि ने जन्म लिया, जो की रोम और अंतर्राष्ट्रीय अपराध न्यायलय के बीच था।

जिसकी वजह से ही अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायलय की स्थापना हुई। अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायलय (international criminal court) के स्थापना दिवस को ही इंटरनेशनल जस्टिस डे या वर्ल्ड डे ऑफ़ इंटरनेशनल जस्टिस के रूप में मनाया जाता है।

इंटरनेशनल जस्टिस डे, international justice day in hindi, world day for international justice , world justice day in hindi

इंटरनेशनल जस्टिस डे क्या है?

इंटरनेशनल जस्टिस डे अपराधी को दंड देने और किसी और के द्वारा प्रताड़ित किये गए लोगो को न्याय दिलाने के महत्त्व को दिखाता है।

इंटरनेशनल जस्टिस डे उन देशो की सक्रियता को देखने के लिए भी मनाया जाता है, जो दुनिया भर में न्याय व्यवस्था बनाये रखने का वादा करते हैं। इस दिन सभी देश पिछले साल न्याय प्रणाली को सही करने के लिए -क्या किया? और उससे क्या फायदा हुआ? वो सबके सामने रखते हैं।

साथ ही साथ ये भी बताते हैं की अगले साल की उनकी क्या योजना है।
यह दिन बताता है की चाहो हम सभी देश सीमाओं से अलग अलग हैं लेकिन हमारे अन्दर की इंसानियत एक जैसी है।

और जब बात न्याय करने की आती है तो हम सभी देश एक साथ हैं। 1998 से लेकर आज तक में, अब तक 139 से ज्यादा देश इस संविधि से जुड़ चुके हैं।

“पिछले २० वर्षो में अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्याय को मजबूत करना। और विशेष रूप से रोम संधि को अपनाना और अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्याय की नयी प्रणाली और इस महान न्यायलय की स्थापना को शांति और कानून के शासन के लिए क्रांतिकारी प्रगति के रूप मे देखा जाएगा।”

विलियम आर. पेस. अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय के लिए गठबंधन के संयोजक


source- COALITION

इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट (ICC) पहली ऐसी न्याय प्रणाली की संस्था है, जो की निष्पक्ष रूप से सभी देशो को न्याय देती है। यह किसी राष्ट्र के उन्ही मामलो को नियंत्रित करती है, जिसे राष्ट्र स्वयं नहीं नियंत्रित कर पाते।

किन्ही दो देशो के बीच यदि कोई विवाद उत्पन्न होता है तो उसका मुकदमा इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट में ही चलता है।

AMAZING FACT- भारत चीन और अमेरिका इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट (ICC) का हिस्सा नहीं हैं। उनको ICC के कार्य करने का तरीका पसंद नहीं आता। इसलिए वो इसके साथ नहीं हैं। साथ ही साथ उन्हें ऐसा लगता है की अगर वो इनके साथ कार्य करते हैं तो इन्हें सिर्फ समझौते करने पड़ेंगे सीमा के विवादों में। और इसमें उनका ही घाटा होगा और शायद वो सही भी हैं।

इंटरनेशनल जस्टिस डे कब मनाया जाता है?

इंटरनेशनल जस्टिस डे हर साल 17 जुलाई को मनाया जाता है।  इंटरनेशनल जस्टिस डे इस साल 2021 में 17 जुलाई दिन शनिवार को मनाया जाएगा।

इंटरनेशनल जस्टिस डे क्यों मनाते हैं?

इंटरनेशनल जस्टिस डे इसलिए मनाया जाता है, जिससे लोगो को न्याय के लिए एक साथ होने की प्रेरणा दी जाए। साथ ही साथ अपराधी को भी ये पता रहे की अगर वो कोई गलती करता है तो उसके विरोध में कौन कौन खड़ा होगा। और दुनिया उसके साथ कैसा वर्ताव करेगी।

इंटरनेशनल जस्टिस डे, international justice day in hindi, world day for international justice , world justice day in hindi

इंटरनेशनल जस्टिस डे कब से मनाया जाता है? ( इंटरनेशनल जस्टिस डे की शुरुआत कैसे हुई?)

इंटरनेशनल जस्टिस डे 17 जुलाई 1998 में हुए रोम संविधि के उपलक्ष्य में मनाया जाता है। लेकिन इसकी शुरुआत 1 जून 2010 को कम्पाला (युगांडा ) में रोम संविधि की समीक्षा सम्मलेन में राज्य के दलों के निर्णय से हुई थी।

इसलिए पहली बार इंटरनेशनल जस्टिस डे पहली बार 17 जुलाई 2011 को मनाया गया था। 2021 में 17 जुलाई को या 11वीं बार मनाया जाएगा।

इंटरनेशनल जस्टिस डे नहीं इंटरनेशनल क्रिमिनल जस्टिस डे नाम है।

17 जुलाई असलियत में इंटरनेशनल जस्टिस डे नहीं है। बल्कि इसका नाम इंटरनेशनल क्रिमिनल जस्टिस डे है।

लेकिन लोग इस दिन को इंटरनेशनल जस्टिस डे के नाम से ही जानते हैं। इसलिए इस लेख में इसी नाम का उल्लेख किया गया है। united nations तो आधिकारिक रूप से भी इसी नाम को लिखते हैं। और इसी का उपयोग भी करते हैं।

लेकिन हमारा मानना है की लोगो को इस गलती को सुधारना चाहिए। ऐसा नहीं है की ये गलती से हो गया है। दरअसल लोगो को ये नाम आसान लगता है, इसलिए वो लोग इसे इसी नाम से बुलाने लगे।

इंटरनेशनल जस्टिस डे कैसे मनाया जाता है?

इस दिन इसके सभी सदस्य देशो के बीच मीटिंग होती है। और सभी देश अपने विचार एक दूसरे के सामने रखते हैं।

कैसे दुनिया में शांति स्थापित की जाए और न्याय व्यवस्था को बनाये रखा जाए? इनमे क्या क्या सुधार किया जाये? जिससे न्याय व्यवस्था सही से बनी रहे।

साथ ही साथ सभी देश ये भी बताते हैं की उन्होंने पिछ्ले एक साल में न्याय व्यवस्था को सही बनाये रखने के लिए अपने देश में क्या किया है? और आने वाले साल में क्या करने वाले हैं जिससे न्याय व्यवस्था बनी रहे।

इंटरनेशनल क्रिमिनल जस्टिस डे सिर्फ न्याय व्यवस्था को ध्यान में देने के लिए ही नहीं है। साथ ही साथ ये भी ध्यान देना है की जो अपराधी है उसके साथ न्याय हो रहा है।

ऐसा तो नहीं की छोटे से जुल्म के लिए बड़ी सजा दी जा रही है किसी अपराधी को और बड़ी गलती पर भी छोटी सजा दी जा रही है? ऐसा तो नहीं की किसी अपराधी के साथ अत्याचार किया जा रहा हो? इंटरनेशनल क्रिमिनल जस्टिस डे को मनाने का मुख्य उद्देश्य यही है।

इंटरनेशनल जस्टिस डे का क्या महत्त्व है

इंटरनेशनल जस्टिस डे इंटरनेशनल क्रिमिनल कोर्ट की स्थापना दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह दिन बताता है की हम एक दूसरे से चाहे जितने अलग हों लेकिन जब बात आती है न्याय करने की तो पूरी दुनिया एक हो जाती है।

इंटरनेशनल जस्टिस डे कहाँ कहाँ मनाया जाता है?


इंटरनेशनल जस्टिस डे विश्व के लगभग सभी देशों में मनाया जाता है। जो देश इससे नही जुड़े हैं वो भी इसे मनाते हैं। वो अपने देश मे स्वयं से एक सभा आयोजित करते हैं। और अपने देश की न्याय व्यवस्था की समीक्षा करते हैं। साथ ही साथ आगे न्याय व्यवस्था के सुधार के लिए क्या क्या करना है? इसकी भी चर्चा करते हैं।

ALSO READ- भारतीय इतिहास के झूठ

By शिवम त्रिपाठी

GYAN KI BAAT मेरा ब्लॉग है जिसको मैने उस वक़्त बनाया था जब blogging शुरू किया था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *